Main Article Content

Abstract

वर्तमान समय में मानव जीवन संघर्ष और अवसादपूर्ण जीवनशैली को अपनाकर जी रहा है जिस कारण तमाम बिमारियों का शिकार होकर कलहपूर्ण और अवसारपूर्ण जीवन जीने को मजबूर है। संघर्ष का कारण सामाजिक पदास्थिति और अतिमहत्वाकांक्षा है। ऐसे में मानव डायबिटीज, सर्वाइकल स्पांण्डलाईटिस, मोटापा, रक्तचाप सम्बन्धी बिमारियों का शिकार होकर वास्तविक मानव जीवन से दूर हो चुका है। इन स्थितियों में योग एक महत्वपूर्ण चिकित्सा प्रणाली के रूप में मानव जीवन के लिए वरदान साबित हो रहा है।

Article Details